Saturday, 27 December 2014

प्रेस विज्ञप्ति 
चित्रकारों की हर संभव मदद करेंगे-वेद प्रकाश 
चित्तौड़गढ़ आर्ट फेस्टिवल के आगाज़ ने युवाओं को मंच दिया 

चित्तौड़गढ़ 26 दिसम्बर 2014

चित्तौड़गढ़ जैसे एतिहासिक महत्व के शहर में इस तरह से रंगों का आयोजन अपने आप में बेहतर पहल है।ऐसे फेस्टिवल की शुरुआत के लिए आर्ट सोसायटी और पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग का यह नवाचार सराहा जाना चाहिए। हमारा प्रशासन चित्रकारों को हर संभव मदद देने को तैयार है अगर इस तरह से जिले के चितेरों को एक स्थायी मंच बनाकार गतिविधियों को आगे बढ़ाया जाए तो कुछ सार्थक माहौल  बन सकता है जिसकी महती ज़रूरत भी है। खासकर राजस्थान के इस इलाके में युवाओं और विद्यार्थियों को मंच देने के हिसाब से यह आयोजन एक सुन्दर आगाज़ माना जाए 

चित्तौड़गढ़ आर्ट सोसायटी और पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित फेस्टिवल के उदघाटन सत्र में यह विचार जिला कलेक्टर वेद प्रकाश ने व्यक्त किये। दीप प्रज्ज्वलन मुख्य अतिथि कलेक्टर वेद प्रकाश और विशिष्ट अतिथि चित्रकार कल्याण जोशी, अतुल पाडिया, रिया शर्मा और केजी कदम ने किया। स्वागत वक्तव्य संयोजक मुकेश शर्मा, सलाहकार डॉ. ए.एल.जैन ने दिया। प्रदर्शनी के उदघाटन के मौके पर शहर के कई गणमान्य नागरिक मौजूद थे जिनमें संग्रहालय अधीक्षक हिमांशु सिंह, उदयपुर से आये संग्रहालय अधीक्षक नीरज त्रिपाठी, पुरातत्व विभाग के अधीक्षक राकेश छोलक, सैनिक स्कूल प्राचार्य लेफ्टिनेंट कर्नल अजय ढील, कर्नल रणधीर सिंह चित्तौड़गढ़ अर्बन को-ओपरेटिव बैंक के अध्यक्ष आई एम्प्र सेठिया, स्काउट सीओ चन्द्र शंकर श्रीवास्तव, सी.एम.बोकड़िया, गीतकार अब्दुल ज़ब्बार, कल्याणी दीक्षित, नन्द किशोर निर्झर, प्रयास संस्था सचिव डॉ. नरेन्द्र गुप्ता, दीपक भगत, मीरा स्मृति संस्थान के अध्यक्ष भंवर लाल सिसोदिया, सचिव सत्यनारायण समदानी, मानवाधिकार कार्यकर्ता जीएनएस चौहान,स्पिक मैके समन्वयक जे.पी.भटनागर शामिल थे। इधर महाराणा प्रताप स्नातकोत्तर महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के दो सौ केडेट्स ने छात्रसंघ अध्यक्ष प्रकाश भट्ट, योजना प्रभारी डॉ. निर्मल देसाई और डॉ. नरेन्द्र गुप्ता के निर्देशन में प्रदर्शनी देखी

गौरतलैब है कि चित्तौड़गढ़ के भी कई चित्रकारों को इस प्रदर्शनी में मंच मिला है जिनमें लक्ष्मीनारायण वर्मा, मनोज कुमार यादव,  दिलीप जोशी, प्रतिमा आर्य, प्रतिभा यादव, राहुल यादव, विजय कुमार बैरवा, अभिषेक श्रीमाल, विजय शर्मा, मोहन धाकड़, दीपिका शर्मा, घनश्याम सिंह, बेगूं के किशन शर्मा, दिनेश रेगर, डॉ. अभिनव कमल रैना, रुकैया शैख़, कपासन के संजय कुमार मोची, मोहन लाल मोची शामिल हैं। समारोह के बाद सभी ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया और आखिर में उपस्थित संस्कृतिप्रेमियों ने गुरुवार को दिवंगत हुए उदयपुर निवासी जानेमाने समाजवादी कवि और साहित्यकार नन्द चतुर्वेदी के निधन पर श्रृद्धांजलि सभा भी की। इस मौके पर उनके साहित्यिक अवदान पर डॉ. राजेश चौधरी ने संक्षिप्त वक्तव्य दिया

इधर सलाहकार नीतू ढील ने बताया कि जयपुर की डिजाइनर रिया शर्मा के सानिध्य में पांच दिवसीय पेंटिंग कार्यशाला की शुरुआत सताईस दिसंबर सुबह ग्यारह बजे फ़तेह प्रकाश महल में होगी। कार्यशाला इकतीस दिसंबर तक चलेगी जिसमें चित्तौड़गढ़ के फड़ चित्रकार दिलीप जोशी लोक चित्रकारी, भीलवाड़ा के एस.एन.सोनी रियलिस्टिक आर्ट, उदयपुर की दीपिका माली ड्राइंग और अंतिम दिन उदयपुर के ही सुनील निमावत ग्राफिक्स के बारे में जानकारी देंगे।रोजाना कार्यशाला के बाद प्रतिभागी श्रमदान भी करेंगे।

डॉ. ए.एल.जैन
सलाहकार,चित्तौड़गढ़ आर्ट फेस्टिवल

0 comments:

Post a comment

Note: only a member of this blog may post a comment.

3rd Chittorgarh Art Festival(17-21 January) 2016

2nd Chittorgarh Art Festival (4-6 November, 2015)